क्या आ गई है तलाक की नौबत! जानिए कैसे बनेगी फिर से बात?

क्या आ गई है तलाक की नौबत! जानिए कैसे बनेगी फिर से बात?

  • By: bestislamic

पहले-पहले पति-पत्नी के बीच सब कुछ अच्छा ही होता है। मगर धीरे-धीरे उनके बीच न जानें कैसी मुसीबतें घर बना लेती है। यह मुसीबतें कब आपके प्यारे-से रिश्ते को तलाक तक पहुंचा दें यह आप भी अंदाजा नहीं लगा पाएंगे। मगर इसका कारण आपकी गलतियां नहीं बल्कि बुरी नजर का साया होती है। इन्हीं बुरी नजर को हटाने के लिए आपको अवश्य किसी एक्सपर्ट का सहारा लेना चाहिए। फिर देखिए आपके जीवन में खुशियों का कैसे आगमन होता है। पहले आपको पता होना चाहिए कि ऐसी कौन-सी दिक्कतें है जो पति-पत्नी को अकसर तलाक के दरवाजे तक लेकर जाती है।

कारण : 

राहू की दशा
बड़े-बड़े एस्ट्रोलॉजर के अनुसार पंचम व सातवें भाव में बैठे द्वादशेश, पंचम एवं बारहवें भाव में बैठे सप्तमेश से राहू की प्रवेश से तलाक हो जाता है। सातवें भाव का स्वामी और बाहरवें भाव का स्वामी अगर दसवें भाव में प्रवेश करता है तो भी तलाक होता है।

ग्रहों का प्रकोप
सातवें घर में पापी ग्रह हों व चंद्रमा व शुक्र पापी ग्रह से पीडि़त हों तो तलाक लेने के योग बनते हैं। इसी तरह सप्तमेश व द्वादशेश छठे आठवें या बाहरवें भाव में हो और सातवें घर में पापी ग्रह हों तो तलाक के योग बनते है। सातवें घर में बैठे सूर्य पर शनि के साथ शत्रु की दृष्टि होने पर भी तलाक होता है।

शुक्र और गुरु ग्रह  
तलाक का सबसे बड़ा कारण गुरु और शुक्र ग्रह से भी जुड़ा हुआ है। अगर गुरु में शुक्र की दशा या फिर शुक्र में गुरु की दशा चल रही हो तब भी पति पत्नी के बीच अलगाव की स्थिति उत्पन्न होती है।

कुंडली का प्रभाव
अगर जन्म कुंडली में शुक्र ग्रह कृत्तिका, आर्द्रा, मूल या ज्येष्ठा नक्षत्र में बैठा हो तो ऐसे शादीशुदा जातकों की शादी टूटने की संभावना होती है।

कुंडली का न मिलना
अगर शादी से पहले वर वधु की कुंडली के गुणों का अच्छे से मिलान नहीं किया गया हो तो ऐसे लोगों का तलाक होने की स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

उपाए :

-तलाक की स्थिति को शत प्रतिशत समाप्त करने के लिए एक-एक दाना 12मुखी,11मुखी,10मुखी, गौरीशंकर, 8मुखी, 7मुखी, 6मुखी रुद्राक्ष प्राण प्रतिष्ठित करवाकर धारण करें।
-राहू के कारण तलाक की स्थिति में सात शनिवार शाम के समय दक्षिणमुखी हनुमान जी की उल्टी सात परिक्रमा लगाएं।
-सात शनिवार हनुमान जी के चित्र पर गुड़ का भोग लगाकर काली गाय को खिलाएं।
-दक्षिमुखी हनुमान मंदिर से प्राप्त सिंदूर जीवनसाथी के चित्र पर लगाएं।
-घर की उत्तर दिशा में हनुमान जी का वीर रूपक चित्र लगाएं।
-सात मंगलवार तांबे के लोटे में गेहूं भरकर उस पर लाल चन्दन लगाकर लोटे समेत हनुमान मंदिर में चढ़ाएं।
-सात रविवार दिन के समय पूर्वमुखी हनुमान मंदिर में 7 अनार चढ़ाकर किसी नव दंपति को भेंट करें।
-सात शनिवार 7 जैतून, 7 अमरूद, 7 काले जामुन, 7 बेर, 7 बादाम, 7 नारियल, 7 काले द्राक्ष काले कपड़े में बांधकर हनुमान मंदिर में चढ़ाएं।

अगर आपकी जिंदगी में भी तलाक की नौबत आई है तो यह उपाय जरूर अपनाएं  और आज के आज, अभी के अभी मुझे संपर्क करें। मैं 24 घंटो में गारंटी के साथ हल कर कर दूंगा। संपर्क करें  +91-7297013772

About the author

Haji Akbar Ali

Author : Bestislamicastrology

Expreriance : 2 years

coming soon...

Leave a Reply

Your email address will not be published.